स्लम एरिया की महिलाओं का बदल दिया  जीवन
December 21, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

स्लम एरिया की महिलाओं का बदल दिया  जीवन

 इंदौर . महिलाओं को अपना नाम ठीक से लिखना नहीं आता था वह अब आसानी से  किताबे पढ़ रही हैं और उसका अर्थ भी समझ रहे हैं यहां तक कि ए बी सी डी भी फर्राटे से बोल रहे हैं अपने बदलते जीवन से वे बहुत खुश नजर आ  रही है.

 हम बात कर रहे हैं इंदौर रामनगर में सबल नारी संस्था की . जिसकी अध्यक्ष प्रिया चौहान के नेतृत्व में स्लम एरिया की महिलाएं  साक्षरता की और निरंतर कदम बढ़ा  रही हैं .इसके साथ ही बस्ती में रहने वाले बच्चे भी यहां आकर शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने का बीड़ा उठाकर प्रिया चौहान ने इस संस्था गठन किया और 2 वर्षों में अब तक सैकड़ों लोगों की जिंदगी की रोशनी बन कर सामने आई  हैं . बस्ती के बच्चों को भी उन्होंने नई राह दिखाई और वे यहां पर प्रतिदिन शिक्षा के साथ साथ संस्कार भी ग्रहण कर रहे हैं. कम संसाधनों के साथ शुरू की गई इस संस्था के सराहनीय प्रयास से कई जरूरतमंद लोग की आशाएं बढ़ती जा रही हैं .  इस बात की है कि इस संस्था और उसके द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी अधिक से अधिक  लोगों तक पहुंचाई जा सके जिसके माध्यम से जरूरतमंदों की सेवा भी हो सके और लोग बढ़-चढ़कर इसमें सहयोग प्रदान कर सकें.