पीएम केयर्स फंड में 10 करोड़ रुपये का योगदान देगी - 5 करोड़ रुपये विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री राहत कोषों को दिये जाएंगे
April 20, 2020 • धर्मेंद्र शुक्ला

   रिन्यू पावर ने कोविड-19 के विरूद्ध लड़ाई में 20 करोड़ रुपये देने का संकल्‍प लिया

- कंपनी ने पीएम केयर्स फंड में 10 करोड़ रुपये का योगदान देगी
- 5 करोड़ रुपये विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री राहत कोषों को दिये जाएंगे
- रिन्यू पावर अपनी साइट्स के आस-पास के 140 से अधिक गांवों में राशन का वितरण करेगी

गुरुग्राम, भारत अप्रैल, 2020: रिन्यू पावर ने आज घोषणा की है कि वह भारत में कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों के प्रयासों में योगदान देगी। रिन्यू पावर ने शुरू में इस पहल के लिए 20 करोड़ रुपये देने का संकल्‍प लिया है। इसमें से 10 करोड़ रुपये का योगदान पीएम केयर्स फंड में किया जाएगा, और 5 करोड़ रुपये विभिन्न राज्यों में मुख्यमंत्री राहत कोष में दिए जाएंगे। शेष राशि को लॉकडाउन से प्रभावित समुदायों की मदद करने पर खर्च किया जाएगा। साथ ही महामारी से निपटने के लिए स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने पर लक्षित कई गतिविधियों में भी इस राशि का उपयोग किया जाएगा।

इन गतिविधियों के एक हिस्से के रूप में, रिन्यू पावर स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर राशन पैकेटों को वितरित कर प्रवासी मजदूरों, दैनिक वेतन भोगियों और देश भर में फैले स्थानीय लोगों को खिलाने पर ध्यान केंद्रित करेगी। कंपनी गुजरात, राजस्थान, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, तेलंगाना, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र राज्यों में स्थित अपने संयंत्रों के आसपास के इलाकों में काम करेगी और लगभग 140 गांवों के निवासियों को लाभ देगी। इसके अतिरिक्त, रिन्यू हरियाणा में एक गाँव को गोद ले रहा है, जहाँ लगभग 350 निशक्त परिवारों को सूखा राशन और हाईजीन किट प्रदान की जाएगी।

इसके अलावा, उनके सीएमडी और वरिष्ठ प्रबंधन के अन्य सदस्यों के नेतृत्व वाले रिन्यू कर्मचारी भी कोविड-19 से लड़ने के लिए विभिन्न गतिविधियों को निधि देने के लिए अपने वेतन का एक हिस्सा योगदान दे रहे हैं। इस बीच, रिन्यू पावर की वरिष्ठ नेतृत्व टीम ने गुरूग्राम के अन्य कॉर्पोरेट नेतृत्वकर्ताओं के साथ मिलकर अधिकारियों को महत्वपूर्ण सहायता प्रदान की है, जिसमें फ्रंटलाइन हेल्थकेयर प्रदाताओं के लिए पीपीई किट वितरित करना, अस्पतालों को वेंटिलेटर की आपूर्ति, भोजन और प्रभावित समुदायों के लिए सूखा राशन प्रदान करना शामिल है।

रिन्यू पावर के प्रेसिडेन्ट एवं प्रबंध निदेशक सुमंत सिन्हा ने कहा, “लॉकडाउन के बीच अपनी क्‍लीन एनर्जी पैदा करने वाले संयंत्रों को चालू रखने और 100 से अधिक साइटों से लोगों को नियमित बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित कर कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में रिन्यू पावर देश भर में सबसे आगे है। लेकिन हम सभी जानते हैं कि इस कठिन समय के लिए हमें सरकार के साथ-साथ वित्तीय सहायता के साथ बुनियादी सुविधाओं के समर्थन के लिए कर्तव्य के आह्वान पर काम करना होगा, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि इस बीमारी से लड़ने के लिये हम तैयार हैं। रिन्‍यू पावर देश के साथ कंधा मिला कर चल रहा है , हम आशा करते हैं कि अस्पतालों और उनके कर्मचारियों को सही चिकित्सा उपकरणों से लैस करने में मदद करने का हमारा प्रयास इस आपातकाल से निपटने में स्थानीय प्रयासों को मजबूत करेगा। हम रिन्यू में, उन सभी की निस्वार्थ सेवा को सलाम करते हैं, जो महामारी से मुकाबला कर रहे हैं, विशेष रूप से चिकित्सा समुदाय और जो कुछ भी आवश्यक है, उन्हें सशक्त बनाने की दिशा में काम करना जारी रखेंगे।”

रिन्यू पावर के विषय में - कुल ऊर्जा उत्पादन क्षमता के संदर्भ में रिन्यू पावर प्राइवेट लिमिटेड भारत की सबसे बड़ी नवीकरणीय ऊर्जा आईपीपी (स्वतंत्र विद्युत निर्माता) है। दिसंबर 2019 तक, रिन्यू की कुल क्षमता देश भर में पवन और सौर ऊर्जा संपत्तियों की 8 GW से अधिक थी, जिसमें विकासाधीन परियोजनाएं शामिल हैं। यह उपयोगिता पैमाने की पवन और सौर ऊर्जा परियोजनाओं के विकास, निर्माण, स्वामित्व और संचालन के साथ-साथ सौर ऊर्जा परियोजनाएं वितरित करता है, जो वाणिज्यिक और औद्योगिक ग्राहकों के लिए ऊर्जा उत्पन्न करती हैं। रिन्यू के पास पिछले तीन वित्तीय वर्षों में ऑर्गेनिक और इनऑर्गेनिक वृद्धि का मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड है, जो इसकी परिचालन क्षमता को दोगुना बताता है। इक्विटी निवेशकों के रिन्यू के व्यापक आधार में गोल्डमैन सैश, JERA, ADIA, CPPIB और GEF SACEF इंडिया शामिल हैं।