माउंट लिटरा ज़ी स्कूल ने ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ के थीम पर दो  दिवसीय वार्षिक महोत्सव धूमधाम के साथ मनाया  
December 9, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

माउंट लिटरा ज़ी स्कूल ने 'वसुधैव कुटुम्बकम' के थीम पर दो 
दिवसीय वार्षिक महोत्सव धूमधाम के साथ मनाया

इन्दौर, 09 दिसम्बर 2019 । माउंट लिटरा ज़ी स्कूल में 'वसुधैव कुटुम्बकम' के थीम पर दो दिवसीय वार्षिक महोत्सव धूमधाम के साथ मनाया गया । पूरे विद्यालय को पुष्प से सजाया गया था । उत्सव में विद्यार्थियों द्वारा स्वागत गीत, आर्केस्ट्रा, गणपति उत्सव, सरस्वती वंदना कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए । प्रथम दिन वरिष्ठ छात्रो द्वारा दिवाली पर भारतीय नृत्य, यू. के. का लाइट फेस्टीवल, यू. के का इनसोमनिया, रोबोटिक डांस, वसुधैव कुटुम्बकम सॉंग, चायना का ड्रेगन डांस, जापान का मार्शल आर्ट्स, यू. वी. एक्ट प्रस्तुत किये गए तथा सेव प्लैनेट के अंतर्गत कार्यक्रम का अंत ग्रैण्ड फ़िनाले से हुआ । साथ ही विज्ञान प्रदर्शिनी, आर्ट, एवं क्राफ्ट प्रदर्शिनी ने कार्यक्रम में चार चाँद लगा दिए । इस प्रदर्शिनी में प्रत्येक कला छात्र द्वारा स्वनिर्मित थी । विज्ञान प्रदर्शिनी में छात्रों ने सोलर ट्रेकिंग सिस्टम, टेसला कॉएल, लेज़र बेस्ड सिक्योरिटी सिस्टम, वॉटर फिल्टर, टेलीस्कोप, मैथ्स मेजेशियन आदि प्रदर्शित किए । सिद्धार्थ समाधिया और आशि वर्मा को उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए संयुक्त रूप से 'चेयरमेंस कप 2019” से सम्मानित किया गया l
दुसरे दिन छोटे - छोटे बच्चे रंग बिरंगे परिधान पहने परिसर में चहकते, इतराते नज़र आए । सांस्कृतिक कार्यक्रम के अंतर्गत स्वागत गीत,आर्केस्ट्रा,फ्लावर थीम, डिज़नी लैंड फेस्टिवल, बेलून फेस्टिवल (स्वीटज़रलैंड) क्रिसमस, टॉमेटो फेस्टिवल (स्पेन), भारतीय लट्ठमार होली, चीन का थाउज़ेण्ड हैंड, फ्री स्टाइल डांस, ग्रैण्ड फ़िनाले इत्यादि विविध देशो की झलक देखने को मिली l 
प्रथम दिन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. जी. एस. ग्रेवाल जी थे । चार्टेड एकाउंटेड होने के साथ ही ग्रेवाल जी ने आई. सी. एस. सी. एवं सी. बी. एस. ई. के लिए बहुत सारी पुस्तकें लिखी हैं । वही दुसरे दिन मध्य प्रदेश की बहुचर्चित नृत्यांगना यथा नाम तथा गुण को सार्थक करने वाली डॉ. रागिनी मक्खर वार्षिक महोत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थी । देश से लेकर विदेश तक में अपनी नृत्य प्रस्तुति देकर इन्होंने मध्य प्रदेश का नाम रौशन किया । रागिनी जी 'इंडिया गॉट टेलेंट – 5' की विजेता रह चुकी हैं । 

विद्यालयीन निर्देशक श्री. मयंकराज भदौरिया जी ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि मुझे लगता है कि यदि स्कूल बच्चों को, उनके पालकों को सही और आवश्यक फीडबैक दें तो बच्चों का सही दिशा में मार्गदर्शन हो सकता हैं और इसके दूसरे तरफ यदि बच्चे और पालक मिलकर कर्मचारियों एवं शिक्षकों के नियम के बारे में स्कूल मेनेजेमेंट को सही फीडबेक दे तो ही हम सब अपना गोल बना सकते हैं । विद्यालयीन प्रधानाचार्य जी ने अपने उदद्बोधन में कहा कि मयंकराज सिंह जी में कोई बात है जो मैं आज प्रधानाचार्य के पद पर यहाँ हूँ और निर्देशक जी के कारण ही आज इतने बच्चे विद्यालय में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं । मैं उन 
पालकवृंदों का धन्यवाद करता हूँ जिन्होंने अपने जिगर के टुकड़े को हमें सौंपा हैं ।