मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कैंसर के असाध्य दर्द से तड़पते लाचार मरीजों को विश्व के पहले हानिरहित पूर्णतया हर्बल ट्रीटमेंट "इलेक्ट्रो होम्यो पैथी" चिकित्सा पद्धति के माध्यम से चंद मिनटों में राहत मिल जायेगी।
December 17, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कैंसर के असाध्य दर्द से तड़पते लाचार मरीजों को विश्व के पहले हानिरहित पूर्णतया हर्बल ट्रीटमेंट "इलेक्ट्रो होम्यो पैथी" चिकित्सा पद्धति के माध्यम से चंद मिनटों में राहत मिल जायेगी।

देश के दिल्ली एवं मुंबई जैसे बड़े शहरों में खुलने के बाद अब इंदौर के देवी अहिल्या हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में भी सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र,पटना के सहयोग से स्थापित किये जा रहे विभिन्न आधुनिक सुविधाओं युक्त 100 बेड के कैंसर पेन एंड पैलिएटिव केयर सेंटर(कैंसर दर्द निवारक केंद्र) का शुभारंभ 18 दिसम्बर को माननीय केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे जी के करकमलों से होगा, जिसमें बतौर विशिष्ट अतिथि इंदौर के माननीय सांसद श्री शंकर लालवानी जी भी मौजूद रहेंगे।

देवी अहिल्या हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के निदेशक डॉ. अजय हार्डिया ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बताया की पूरे विश्व में आज लगभग दो लाख कैंसर पेन एण्ड पैलिएटिव सेंटर चल रहे हैं। जैसा कि अमेरिका के एम. डी. एंडरसन कैंसर सेंटर , टेकसास के एमेरिटस रिसर्च प्रोफेसर डॉ . सेन पाठक भी सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र के निदेशक डॉ. के.पी. सिन्हा व उनकी सहयोगी टीम के साथ जनवरी माह में हुई उच्च स्तरीय बैठक में मान चुके हैं कि पूरे विश्व चिकित्सा जगत में अभी केवल सेकेण्ड स्टेज तक के कैंसर को नियंत्रित करने पर ही अनुसंधान चल रहा है। लेकिन सिन्हा इलैक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केन्द्र के माध्यम से स्थापित होने जा रहे इस सेंटर में चौथी स्टेज तक के कैंसर मरीजों को भी इलेक्ट्रो होम्यो पैथी को वैश्विक पहचान दिलाने वाली व अनुसंधान केंद्र के निदेशक डॉ. के.पी. सिन्हा जी द्वारा गहन रिसर्च के बाद आविष्कृत कैंसर मेडिसिन "गैंग्रीनॉल फोर्ट" के द्वारा असहनीय दर्द समेत अन्य परेशानियों से कुछ ही समय में निजात दिलाया जावेगा।

आगे उन्होंने बताया की सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र के साथ सहभागिता में खुल रहे इलेक्ट्रो होम्यो पैथिक दवाओं पर आधारित सर्व आधुनिक सुविधा सम्पन्न इस 100 बेड के कैंसर सेंटर के शुभारंभ के अलावा भी 18 दिसम्बर को ही यहाँ से कुछ कि.मी. की दूरी पर इंदौर के शिप्रा स्थित अपने अन्य चिकित्सकीय संस्थान में सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र,पटना के साथ सहभागिता में ही इस अद्भुत चिकित्सा विज्ञान की स्तरीय शिक्षा व्यवस्था के विकास हेतु शैक्षणिक सह चिकित्सकीय संस्थान का शुभारंभ भी माननीय मंत्री जी ही करेंगे।
इस संस्थान में इलेक्ट्रो होम्यो पैथी की गुणवत्तापूर्ण शैक्षणिक व्यवस्था के साथ साथ गठिया,एड्स,डायबिटीज जैसे अन्य सभी प्रकार के जटिल रोगों की भी इलेक्ट्रो होम्यो पैथी के माध्यम से उपचार के लिए आउटडोर सुविधा उपलब्ध होगी।
इंदौर में आरंभ होने जा रहे इन दोनों ही
इलेक्ट्रो होम्यो पैथी आधारित संस्थानों में एलोपैथी के भी वरिष्ठ चिकित्सकों व विशेषज्ञों की सेवायें ली जाएंगी एवं आगे भी वैश्विक स्तर पर इस चिकित्सा विज्ञान की भूमिका सुनिश्चित करने के लिए आवश्यकतानुसार सुविधाओं का विस्तार किया जायेगा।

वहीं सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र के उप-निदेशक डॉ. प्रभात कुमार श्रीवास्तव ने कहा की अपने बिहार मंत्रीत्व काल से लेकर वर्तमान समय तक हजारों मरीजों पर सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र द्वारा कैंसर जैसे जटिल रोगों में दिए गए अभूतपूर्व परिणामों को माननीय केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री जी श्री अश्विनी कुमार चौबे जी ने देखा जाना व सराहा है। जिसके मद्देनजर नजर ही माननीय केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री जी श्री अश्विनी कुमार चौबे जी की विशेष पहल पर उनकी अध्यक्षता व माननीय आयुष मंत्री श्री श्रीपद नायक जी की उपस्थिति में मंत्रालय परिसर में 31 फरवरी 2019 को हुई उच्चस्तरीय बैठक में बतौर इलेक्ट्रो होम्यो पैथी प्रतिनिधि उनके द्वारा दी गई प्रस्तुति के माध्यम से सरकार को इलेक्ट्रो होम्यो पैथी की आज के समय में महत्ता व आवश्यकता के प्रति आश्वस्त किया गया था।

जिसके बाद चिकित्सा क्षेत्र विशेषकर कैंसर रोग में सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र,पटना के योगदान के मद्देनजर एवं जनहित में "इलेक्ट्रो होम्यो पैथी" चिकित्सा विज्ञान को बड़े स्तर पर और अधिक उपयोगी एवं व्यवहारिक बनाने हेतु, माननीय केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे जी के निर्देशानुसार दिनांक-13 फरवरी 2019 को
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय , भारत सरकार ने पत्र संख्या- एफटीएस 248/ पी.एस./2019 के द्वारा सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र,पटना को पूरे भारतवर्ष में बतौर संरक्षक संपूर्ण इलेक्ट्रो होम्यो पैथी जगत का प्रतिनिधित्व करने का जिम्मा सौंपा था।

इसी विशाल जिम्मेदारी को धरातल पर क्रियान्वित करने के लिए एवं माननीय प्रधानमंत्री जी श्री नरेंद्र भाई मोदी जी के सपने "आयुष्मान भारत" में अग्रणी भूमिका निभाने के उद्देश्य से माननीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री जी के ही अमूल्य मार्गदर्शन में कैंसर के खिलाफ व्यापक अभियान में सहभागिता निभाते हुए सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र द्वारा पूरे भारतवर्ष में 108 कैंसर पैन एंड पैलिएटिव केयर सेंटर खोले जाने का निश्चय किया गया है।

इसी कड़ी में पिछले कुछ महीनों में देश के मुंबई व दिल्ली जैसे शहरों में ऐसे कैंसर सेंटर्स खोले जाने के बाद अब मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में देवी अहिल्या हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के निदेशक डॉ. अजय हार्डिया जी द्वारा व्यापक जनहित में एवं चिकित्सा जगत में इस अद्भुत चिकित्सा पद्धति की निर्णायक भूमिका अदायगी का मार्ग प्रशस्त करने के उद्देश्य से सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र,पटना के साथ सहभागिता में अनूठी व अत्यंत सराहनीय पहल की जा रही है। दोनों संस्थाएं मिलकर इंदौर वासियों को स्वास्थ्य क्षेत्र विशेषकर कैंसर रोग में अद्भुत सौगात देने जा रही हैं। इन संस्थानों में इलेक्ट्रो होम्यो पैथी व एलोपैथी चिकित्सक विशेषज्ञों के आपसी सहयोग से कैंसर के साथ अन्य गंभीर बिमारियों पर चिकित्सा कार्य कर उपलब्ध परिणामों को भारत सरकार को सौंपा जाएगा ताकि गम्भीर बिमारियों में मानवता के लिए वरदान इलेक्ट्रो होम्यो पैथी चिकित्सा विज्ञान को अन्य सरकारी संस्थानों में लागू किये जाने का मार्ग प्रशस्त हो सके।

अंत में उन्होंने कहा की आज समाज में कैंसर जैसे जटिल रोगों के बढ़ते प्रसार के मद्देनजर वर्तमान समय में preventive and curative चिकित्सा का सबसे अनुकूल विकल्प होने के साथ साथ आज जिस प्रकार से भारत सरकार इस चिकित्सा विज्ञान को समर्थन दे रही है तो वह दिन दूर नहीं होगा की जब इस अद्भुत विज्ञान के माध्यम से लगभग सभी जटिल रोगों में प्रभावशाली परिणाम देकर माननीय प्रधानमंत्री जी के सपने "आयुष्मान भारत" को साकार किया जा सकेगा। हमें पूर्ण विश्वास है की इस यात्रा में इलेक्ट्रो होम्यो पैथी के सबसे बड़े शुभचिंतक मुख्य अतिथि के रूप में माननीय केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे जी के करकमलों से दिनांक-18 दिसंबर 2019 को शुभारंभ होने जा रहे  दोनों संस्थाओं के इस संयुक्त प्रयास का अभूतपूर्व योगदान होगा व निश्चित ही स्वास्थ्य जगत में मील का पत्थर साबित होगा।