इंदौर संभाग में चलाये जा रहे अभियान के तहत पांच उर्वरक निर्माता कंपनियों के पंजीयन निरस्त*
October 31, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

 

*इंदौर संभाग में चलाये जा रहे अभियान के तहत पांच उर्वरक निर्माता कंपनियों के पंजीयन निरस्त*


इंदौर 31 अक्टूबर,2019
  इंदौर संभाग में किसानों को गुणवत्तापूर्ण खाद-बीज सहित अन्य कृषि आदानों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी के निर्देशन में सघन जांच अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत प्रभावी कार्यवाही की जा रही है। इस अभियान के अंतर्गत कृषि विभाग द्वारा पांच उर्वरक निर्माता कंपनियों के पंजीयन निरस्त किये गये। 
 संयुक्त संचालक कृषि कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार यह पांचों कम्पनियां झाबुआ जिले की है। जिनके पंजीयन निरस्त किये गये है, इनमें मेसर्स रायल एग्रो टेक, 52 ए के.व्ही.एन. इण्डस्ट्रीयल एरिया मेघनगर, मेसर्स मोनी मिनरल्स एण्ड ग्राईन्डर्स, 56 ए.के.व्ही.एन. इण्डस्ट्रीयल एरिया मेघनगर, मेसर्स बालाजी एग्रो आर्गेनिक एण्ड फर्टिलाईजर प्रा.लि. प्लाट नं. 12-ए.के.व्ही.एन. इण्डस्ट्रीयल एरिया मेघनगर, मेसर्स एग्रोफास इंडिया लिमिटेड, प्लाट नं. -135-ए-138 ए.ए. के.व्ही.एन इण्डस्ट्रीयल एरिया मेघनगर तथा मेसर्स त्रयंबकेश्वर एग्रो इण्डस्ट्रीज प्रा.लि. प्लाट नं. 27-32 ए.के.व्ही.एन. इण्डस्ट्रीयल एरिया मेघनगर जिला झाबुआ शामिल है। संयुक्त संचालक कृषि ने झाबुआ उप संचालक को निर्देश दिये है कि इन प्रतिष्ठानों के विरूद्ध उर्वरक गुण नियंत्रण आदेश 1985 के तहत कार्यवाही सुनिश्चित करें।  
 संभागायुक्त श्री त्रिपाठी ने बताया कि गत खरीफ के दौरान गुणवत्तापूर्ण खाद-बीज सहित अन्य कृषि आदानों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये अभियान चलाया गया था । इसी तरह का अभियान वर्तमान में भी जारी है।  इस तरह का अभियान आगे भी जारी रहेगा।