भोपाल की तर्ज़ पर इन्दौर नगर निगम को भी दो भागो में विभाजित किया जाये” “इन्दौ के विस्तार को देखते हुए दो नगरनिगम इन्दौर की सख्त ज़रूरत “
October 9, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला


“भोपाल की तर्ज़ पर इन्दौर नगर निगम को भी दो भागो में विभाजित किया जाये”
“इन्दौ के विस्तार को देखते हुए दो नगरनिगम इन्दौर की सख्त ज़रूरत “
म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी के प्रदेशसचिव राकेश सिंह यादव ने मुख्यमंत्री कमलनाथ जी से मॉंग की हैं की भोपाल की तर्ज़ पर इन्दौर नगरनिगम के कार्य क्षेत्र का विभाजन करके दो नगरनिगमो का गठन करना इन्दौर के विस्तार को देखते हुए अतिआवश्यक हैं।
इन्दौर का विस्तार होने के बाद बायपास,लसुडिया,खंडवा रोड,धार रोड,राऊ रोड ,केट एरिया,सुपर कॉरिडोर रोड ,उज्जैन रोड स्थित निवासियों को लगभग दस से बारह किलोमीटर चलकर नगरनिगम मुख्यालय पहुँचना पड़ता हैं।जिससे बहुत बड़ी जनसंख्या को तकलीफ रोज़ाना उठाना पड़ती हैं।🔻
इन्दौर का विकास भी इससे प्रभावित हो रहा हैं।एक नगरनिगम मुख्यालय से इतने बड़े शहर में व्यवस्थित विकास कार्यों का संचालन एंव अवैध कार्यों को रोकना व्यवहारिक रूप से संभव नही हैं।इसकी वजह से इन्दौर के अनेक हिस्से निगम के विकास कार्यों से अछूते रह गये हैं क्योंकि न अमला इतना बड़ा हैं जिससे की सारे शहर में सूचारू रूप से कार्य हो सके।इसका ख़ामियाज़ा शहर के नागरिकों को भुगतना पड़ता हैं।इन्दौर में दो नगरनिगम की आवश्यकता का अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं की कार्य के दबाव में नगरनिगम आधे शहर की स्ट्रीट लाईट भी ठीक नही कर पाता हैं।🔻
इन्दौर शहर के नागरिकों को मूलभूत सुविधाओं की समस्याओं का निराकरण निश्चित समय सीमा में हो जाये इसके लिए इन्दौर नगरनिगम को भोपाल की तर्ज़ अनुसार दो भागो में विभाजित करके इन्दौर के विकास को गति प्रदान हो सके।
इस संदर्भ में माननीय मुख्यमंत्री कमलनाथ जी को इन्दौर की भौगोलिक स्थिति अनुसार डाटा सहित पत्र लिखकर निवेदन किया हैं की इन्दौर को मूलभूत सुविधाओ के समुचित विकास के लिए इन्दौर नगर निगम को दो भागो में विभाजित करने की प्रक्रिया कराके इन्दौर के नागरिकों को विकास की इबारत लिखने की नयी सौग़ात दे।