*सहकारी ध्वज फहराने के साथ ही जिला सहकारी संघ कार्यालय पर अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह का शुभारंभ किया गया*
November 14, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

सहकारी ध्वज फहराने के साथ ही जिला सहकारी संघ कार्यालय पर अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह का शुभारंभ किया गया
रतलाम। अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह का शुभारंभ सहकारी ध्वज फहराने के साथ ही जिला सहकारी संघ कार्यालय पर किया गया। मुख्य अतिथि सहकारिता उपायुक्त परमानंद गोडरिया थे। अध्यक्षता संस्था अध्यक्ष  वरिष्ठ पत्रकार शरद जोशी ने की। 
 इस अवसर पर ''ग्रामीण सहकारिताओं के माध्यम से नवाचारÓÓ विषय पर वक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त करते हुए सहकारिता को आम आदमी के जीवन की आर्थिक सुदृढ़ता का आधार बताया तथा कहा कि नई संस्थाओं का निर्माण कर अधिक से अधिक रोजगार के अवसर सुलभ कराना चाहिए। 
 श्री गोडरिया ने कहा कि वर्तमान में सहकारिता में नए प्रयोग नवाचार के रुप में किए जा रहे है। पिछले दो वर्षों में इस दिशा में काफी प्रयत्न हुए है। ग्रामीण क्षेत्र में फूड प्रोसेसिंग, ई-रिक्शा, स्कल यूनिफार्म, पापड़ बड़ी उद्योग, टमाटो सॉस जैसे लघु उद्योगों के लिए सहकारी संस्थाओं का गठन किया जा सकता है, उन्होंने बताया कि हमारे जिले में ऐसे उद्योगों की अपार संभावना है। आपने सहकारिता के क्षेत्र में जनकल्याण के लिए किए जा रहे कार्यों की जानकारी भी दी।  
 श्री जोशी ने इस अवसर पर बताया कि सहकारी सप्ताह प्रतिवर्ष अखिल भारतीय स्तर पर आयोजित किया जाता है, जिसमें सहकारी सप्ताह के माध्यम से सहकारी संस्थाओं के कार्यों का मूल्यांकन होता है, वहीं सहकारिता क्षेत्र में हो रहे निरंतर बदलाव पर चर्चा भी होती है। सहकारिता क्षेत्र से विभिन्न विद्वानों के विचारों को केंद्र तक भिजवाने तथा उन पर विचार मंथन भी किया जाता है। इस वर्ष चूंकि जिले में धारा 144 प्रभावशील है और परिस्थितियां भी अनुकूल नहीं है, इसलिए इसे विशाल पैमाने पर आयोजित न करते हुए गोष्ठीनुमा आयोजन किए जा रहे है। उन्होंने यह भी कहा कि सहकारिता क्षेत्र में कई समितियों का गठन भी किया जा रहा है ताकि अधिक से अधिक से लोगों को सहकारिता से जोड़ा जा सके। 
 कार्यक्रम का संचालन करते हुए संस्था के मुख्य कार्यपालन अधिकारी अनिरूद्ध शर्मा ने सहकारी सप्ताह के आयोजन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि राज्य संघ द्वारा निर्देशित विषयों पर सप्ताह भर आयोजन होते है। इसी के तहत जिले में भी कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने संस्था के उद्देश्यों पर भी प्रकाश डाला। इस अवसर पर जिला सहकारी संघ संचालक पी.एल. गेहलोत ने भी विचार व्यक्त किए। 
 इस अवसर पर सौभाग्यमल कोठारी, गुलाबराव जगदाले, भंवरलाल पुरोहित, नाथूलाल शर्मा, अनूपसिंह तोमर, धीरज भावसार सहित सहकारी संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे। कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन पिंकेश भट्ट ने किया।