*सहकारी आंदोलन के कारण ग्रामीण और आदिवासी समृद्ध हुए है, साथ ही बेरोजगारी समस्या भी हल हुई है-श्री जोशी l*
November 19, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

  *सहकारी आंदोलन के कारण ग्रामीण और आदिवासी समृद्ध हुए है, साथ ही बेरोजगारी समस्या भी हल हुई है-श्री जोशी l*


रतलाम। जिला सहकारी संघ के अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार शरद जोशी ने कहा कि सहकारिता आंदोलन आज विराट रुप धारण कर चुका है। यह देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा हैं,वहीं इसके चलते ग्रामीण और आदिवासी आर्थिक रुप से समृद्ध हुए है, साथ ही बेरोजगारी की समस्या भी कुछ हद तक दूर हुई है। 
 श्री जोशी ने यह बात राजपुरा माताजी छावनीझोडिय़ा सोसायटी में सहकारी सप्ताह के तहत सोमवार को आयोजित कार्यक्रम में कही। उन्होंने कहा कि समितियां समाज जीवन के अनेक क्षेत्रों में काम कर रही है, लेकिन कृषि,खाद और दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में अधिक है। ग्रामीण और शहरी साख आँदोलन में इसकी भूमिका महत्वपूर्ण होती जा रही है। देशभर में 5 लाख से अधिक सहकारी समितियां है जिनमें करोड़ों सदस्य जुड़े होकर लाभांवित हो रहे है।  
 उन्होंने यह भी कहा कि वर्तमान हालात में सहकारिता की स्थिति चिंताजनक है, जिस पर गंभीरता से विचार किया जाना चाहिए। सहकारी समितियों की स्थिति भी निरंतर कमजोर हो रही है, उसका कारण दलीय राजनीति भी है और वर्तमान में ऋणमाफी योजनाएं भी है जो समितियों की आर्थिक स्थिति प्रभावित कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकारें सहकारी आंदोलन को गतिशील बनाने के लिए प्रयत्नशील है, इसका लाभ तभी मिल सकता है जब हम जागरूक होंगे। जागरूकता ही श्रैष्ठ नागरिक की पहचान है। 
 वरिष्ठ सहकारी नेता प्रकाश टांक ने कहा कि हमारी समिति में लगभग 50 गांव जुड़े हुए है और प्राय: समिति के सभी सदस्य राशन,खाद-बीज प्राप्त करते है। उन्हें और अधिक तादाद में खाद बीज उपलब्ध होना चाहिए। उन्होंने क्षेत्र में दुग्ध समिति बनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में पशुपालन की अच्छी संभावना भी है। 
 संस्था के अध्यक्ष कांतिलाल मईड़ा ने भी संबोधित किया। संघ के मुख्य कार्यपालन  अधिकारी अनिरूद्ध शर्मा ने सप्ताह के आयोजन पर  प्रकाश डालते हुए बताया कि इस बार समिति स्तर पर गोष्ठियों के रुप में आयोजन किए जा रहे है ताकि समिति सदस्यों को सहकारिता के विधि-विधान से अवगत कराया जा सके।
 इस अवसर पर उपस्थित सहकारी कार्यकर्ताओं ने अपनी समस्या रखी जिसका मौके पर ही निराकरण किया गया। संस्था की उपाध्यक्ष श्रीमती संतोष टांक एवं संचालक गण इस अवसर पर उपस्थित थे। संचालन जिला सहकारी संघ के जनसंपर्क अधिकारी पिंकेश भट्ट ने किया तथा आभार शाखा प्रबंधक सुरेश जायसवाल ने माना। अतिथियों का स्वागत छावनीझोडिया प्रबंधक वीरेन्द्रसिंह राठौर, प्रबंधक पर्यवेक्षक गौतमलाल खराड़ी, संस्था के संचालक अमरू, हरिसिंह, सुरेश टांक, सरपंच गवजी, सहायक प्रबंधक रमेशचंद्र जैन, सोहन परमार, तनवीर खान ने किया