*नेक की टीम ने किया डीएवीवी का निरीक्षण शुुरू*
November 21, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

*नेक की टीम ने किया डीएवीवी का निरीक्षण शुुरू*


इंदौर। गुरुवार से नेक (नेशनल असेसमेंट एंड एक्रिडिएशन काउंसिल)
 की 8 सदस्यीय टीम ने  देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी में निरीक्षण शुरू कर दिया। शुरूआत में ही तक्षशिला कैंपस खंडवा रोड पर टीम को एनसीसी और एनएसएस ने गॉड आॅफ आॅनर िदया। फिर टीम के समक्ष कुलपति प्रो. रेणु जैन का प्रेजेंटेशन शुरू हुआ। 
टीम के समक्ष लगभग 15 मिनट तक गॉड आॅफ आॅनर और परिचय का दौर चला। करीब एक घंटे तक कुलपति का प्रेजेंटेशन चला। इसके बाद अन्य अफसरों के भी प्रेजेंटेशन हुए। व्यवस्थाओं और संस्थानों का निरीक्षण शाम तक चलेगा। टीम तीन हिस्सों में बंटकर अलग-अलग विभागों को देखकर जानकारी जुटाएगी। 23 नवंबर तक यह निरीक्षण चलेगा। पांच साल पहले 2014 में 3.09 अंकों के साथ ए ग्रेड लाने वाली यूनिवर्सिटी इस बार 3.50 अंकों तक पहुंचने की चुनौती के लिए तैयार है। पिछले पांच सालों में हुए 15 बड़े बदलावों और उपलब्धियों के बूते पर यूनिवर्सिटी ने अपनी तैयारी पूरी कर ली है। कुलपति ने प्रेजेंटेशन में कहा कि हम लगातार आगे बढ़ते जा रहे हैं। 2014 तक तीन विभागों का सैप अब 7 विभागों तक पहुंच गया है। 2014 में डीएवीवी के टीचिंग विभागों में 165 कोर्स थे। यह संख्या अब 215 पर पहुंच गई है। पिछले पांच सालों में बीए और बीएससी आॅनर्स जैसे अहम कोर्स के साथ 8 नए एमबीए कोर्स भी शुरू हुए। तब महज दो विभागों तक सिमित च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम अब सभी 29 विभागों में लागू हो गया है। पांच साल में छात्र संख्या 8380 से 11 हजार 500 पहुंच गई है। सभी टीचिंग विभागों में औसत प्लेसमेंट 54 से 71 फीसदी पर पहुंच गया है। 24 मेसिव ओपन आॅनलाइन कोर्स शुरू किए गए हैं। 212 प्रोफेसरों के 2 हजार से रिसर्च पेपर पब्लिश हुए। इनमें से 80 फीसदी मान्य जनरल्स में हुए।