*नई सोच के साथ मध्यप्रदेश को विश्व में दिलाएंगे नई पहचान - मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ* 
January 25, 2020 • धर्मेंद्र शुक्ला

 

*नई सोच के साथ मध्यप्रदेश को विश्व में दिलाएंगे नई पहचान - मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ* 
*मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज सुशासन की दिशा के नये नवाचार घर पहुंच नागरिक सेवा का शुभारंभ किया*
*अब नागरिको को घर बैठे मिलेंगे विभिन्न प्रमाण पत्र*
इन्दौर 25 -जनवरी-2020   
    मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज इंदौर में आयोजित समारोह में आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के अंर्तगत इंदौर शहर में जिला प्रशासन द्वारा किये गये नवाचार द्वार प्रदाय सेवा का शुभारंभ किया। इसके तहत अब नागरिकों को जन्म, मृत्यु प्रमाण पत्र, मूल निवासी प्रमाण पत्र, खसरा खतोनी की नकले आदि के आवेदन  देने तथा उन्हें लेने के लिये कार्यालयों के चक्कर नही लगाना पडे़गे, उन्हें इस सेवा के अंतर्गत घर बैठे ही आवेदन देने तथा संबंधित दस्तावेज प्राप्त करने की सुविधा मिलेगी। नागरिको से निर्धारित शुल्क लेकर उन्हें दस्तावेज घर बैठै ही उपलब्ध कराये जायेंगे। इसके साथ ही मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने नगर निगम इंदौर के एप 311 की विस्तारित सेवा का शुभारंभ भी किया। 
 इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में इंदौर जिले के प्रभारी तथा गृह और लोक सेवा प्रबंधन मंत्री श्री बाला बच्चन, उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी, विधायक श्री संजय शुक्ला तथा श्री विशाल पटेल, श्री नरेन्द्र सलूजा, श्रीमती शोभा ओझा, श्री विनय बाकलीवाल, श्री प्रमोद टण्डन, श्री सदाशिव यादव, श्रीमती अर्चना जायसवाल, श्री अरविन्द बागड़ी, श्री पंकज संघवी, दुग्ध संघ इंदौर के अध्यक्ष श्री मोती सिंह पटेल भी विशेष रूप से मौजूद थे। इस अवसर पर संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी, आईजी श्री विवेक शर्मा, कलेक्टर श्री लोकेश कुमार जाटव, डीआईजी श्रीमती रूचिवर्धन मिश्र तथा नगर निगम आयुक्त श्री आशीष सिंह भी मौजूद थे। 
 कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश में सरकार द्वारा नई सोच के साथ कार्य किये जा रहे हैं। मध्यप्रदेश को नई सोच के साथ कार्य कर नई पहचान दिलायी जायेगी। हमारा प्रयास है कि आमजन की सोच, नजरिये और दृष्टिकोण में भी परिवर्तन लाया जाये। हमारा प्रयास है कि मध्यप्रदेश को विश्व में नई पहचान मिले। जनता का विश्वास बढ़ता जा रहा है। उन्होंने आह्वान किया कि आम नागरिक अपने सुझाव दें और प्रदेश के चहुंमुखी विकास में भागीदारी करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसानों की क्रय शक्ति को बढ़ाया जायेगा। मध्यप्रदेश की 70 प्रतिशत आबादी कृषि व्यवस्था से जुड़ी हुई है। किसानों की क्रय शक्ति बढ़ेगी तो आर्थिक गतिविधियां भी बढ़ेगी। प्रदेश में आर्थिक गतिविधियों को तेजी से बढ़ाया जायेगा। प्रदेश में औद्योगिक निवेश के लिये तेजी से बेहतर वातावरण बन रहा है। आर्थिक गतिविधियों के बढ़ने से रोजगार भी तेजी से बढ़ेगा। अर्थव्यवस्था मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि हमें गर्व है कि इंदौर ने स्वच्छता के क्षेत्र में नई पहचान कायम की है। उन्होंने जिला प्रशासन द्वारा प्रारंभ की गई सेवा की सराहना की और कहा कि इस तरह की और भी सेवाओं का विस्तार किया जायेगा। 
 कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए गृह तथा लोक सेवा प्रबंधन मंत्री श्री बाला बच्चन ने कहा कि यह योजना पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू की गई है। प्रदेश में लोक सेवा गारंटी केन्द्रों का तेजी से विस्तार किया जा रहा है। पहले 326 केन्द्र थे, जो बढ़कर अब 426 हो गये हैं। इन केन्द्रों के माध्यम से 464 प्रकार की सेवाएं नागरिकों को उपलब्ध करायी जा रही है। उन्होंने कहा कि यह सेवाएं साल भर में तीन सौ दिन मिलेंगी। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा प्रारंभ की गई यह सेवा देश में अपनी तरह की पहली और अनूठी योजना है। 
 कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि प्रदेश में औद्योगिक निवेश के लिये अनुकूल वातावरण बना है। इंदौर शहरवासियों का सरकार के प्रयासों से मेट्रो का सपना पूरा होने जा रहा है। मिल मजदूरों की समस्याओं का भी निराकरण किया जायेगा। जिला प्रशासन द्वारा प्रारंभ की गई द्वार प्रदाय सेवा आपके द्वार आपके सरकार के उद्देश्यों को साकार कर रही है। 
 कार्यक्रम के अन्त में कलेक्टर श्री लोकेश कुमार जाटव ने आभार व्यक्त किया।
         *द्वार प्रदाय सेवा*
   मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने पायलेट प्रोजेक्ट के तहत इन्दौर शहर से आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के अंतर्गत इस सेवा की शुरूआत की है। इस सेवा के अंतर्गत मध्यप्रदेश लोक सेवाओं के प्रदाय की गारंटी अधिनियम  के अंतर्गत नागरिकों को चयनित सेवाओं के लिए कहीं जाना नही पड़ेगा। आवेदक स्वयं ऑनलाइन सिटीजन लॉगिन के माध्यम से एवं लोक सेवा केन्द्र पर आवेदन कर सकता है। आवेदक को आवेदन पत्र के साथ निर्धारित दस्तावेज लगाना अनिवार्य होगा। आवेदक की सहमति होने पर निर्धारित शुल्क पचास रुपए लेकर द्वार पर रसीद दी जायेगी। आवेदन का निराकरण होने पर दस्तावेज आवेदक के पते पर मिल जायेंगे। इसे वर्तमान में सिर्फ शहरी सीमा  में उपलब्ध कराया जाएगा। राजस्व विभाग के अंतर्गत चालू खसरा की प्रतिलिपियों का प्रदाय- नवीन, बी-1 खतौनी की प्रतिलिपियों का प्रदाय - नवीन और योजना, आर्थिक और सांख्यिकी विभाग द्वारा प्रदाय किये जाने वाले जैसे, मूल निवासी, जन्म की अप्राप्यता प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए एवं मृत्यु की अप्राप्यता प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिये आवेदन को शामिल किया गया है। इस संपूर्ण प्रक्रिया में कोई नया पोर्टल या ऐप आवश्यक नहीं है। जो मौजूदा आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर है उसी का रचनात्मक उपयोग किया गया है । इससे सरकार के ऊपर किसी भी प्रकार का वित्तीय भार भी नहीं आयेगा।