*महू-पातालपानी-कालाकुंड के बीच हेरिटेज ट्रेन का 1 वर्ष पूर्ण*     
December 25, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

*महू-पातालपानी-कालाकुंड के बीच हेरिटेज ट्रेन का 1 वर्ष पूर्ण*     

   * 95 हज़ार सैलानियों ने किया सफर, 32 लाख रुपये की हुई आय   l* 

   *(पश्चिम रेलवे रतलाम की विशेष रिपोर्ट)*       *पातालपानी-कालाकुंड हेरिटेज ट्रेन का उपलब्धियों भरा रहा प्रथम वर्ष  l*

पश्चिम रेलवे रतलाम मंडल के डॉ अम्बेडकर नगर-सनावद खंड के मध्य, पश्चिम रेलवे एवं मध्य प्रदेश की प्रथम हेरिटेज लाइन पातालपानी-कालाकुंड हेरिटेज लाइन पर हेरिटेज ट्रेन कों यात्रियों के लिए दिनांक 25.12.18 को प्रारंभ किया गया तथा यह हेरिटेज लाइन का प्रथम वर्ष काफी उपलब्धियों भरा रहा है। इस दौरान इस ट्रेन के लिए पर्यटकों का काफी सकारात्मक प्रतिसाद रहा है। 
इसकी जानकारी देते हुए मंडल रेल प्रवक्ता ने बताया कि रेलवे बोर्ड अध्यक्ष श्री अश्वनी लोहानी द्वारा निरीक्षण के दौरान पातालपानी-कालाकुंड खंड की प्राकृतिक खुबसूरती को यथावत रखने एवं उसे आकर्षक रूप में विकसित करने के लिए इस खंड को दिनांक 25.12.18 तक हेरिटेज के रूप में विकसित करने के निर्देशानुसार दिनांक 25.12.18 से इस हेरिटेज लाइन पर हेरिटेज  ट्रेन का परिचालन प्रारंभ कर दिया गया। पिछले एक वर्ष में इस हेरिटेज ट्रेन को पर्यटकों द्वारा काफी सराहा गया है एवं लोगों का रुझान प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है जो एक वर्ष के अंदर आए लाखों पर्यटकों से भी यह प्रतीत होता है। इस हेरिटेज लाइन एवं हेरिटेज ट्रेन की बिन्दुबार उपलब्धियाँ निम्नानुसार हैः-
कोच की व्यवस्थाः- प्रारंभ में जब दिनांक 25.12.18 को हेरिटेज का परिचालन किया गया था उस समय एक फर्स्ट क्लास, एक स्लीपर एवं एक सामान्य श्रेणी के कोच लगाए जा रहे थे लेकिन पर्यटकों की भीड़ को ध्यान में रखते हुए 29.12.18 से हेरिटेज ट्रेन में एक अतिरिक्त सामान्य कोच की व्यवस्था की गई तथा यात्रियों की मांग को ध्यान में रखते हुए दिनांक 27.07.19 से सामान्य श्रेणी के दो अतिरिक्त कोच लगाया जा रहा है। वर्तमान में सी1, सी2 एवं सामान्य श्रेणी के कुल 300 सीट के साथ चल रही है। वारिश के मौसम में यात्रियों की बढ़ती संख्या एवं मांग को ध्यान में रखते हुए शनिवार एवं रविवार को इस ट्रेन के दो फेरे का परिचालन किया गया।
वृक्षारोपणः- पातालपानी एवं कालाकुंड स्टेशनों पर रेलवे के साथ ही साथ अन्य स्थानीय संगठनों एवं नागरिकों द्वारा पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए गहन वृक्षारोपण किया गया है। इन स्टेशनों पर रेलवे द्वारा नर्सरी का विकास भी किया गया है। 
यात्रियों की संख्या एवं आयः- जैसे जैसे पातालपानी-कालाकुंड हेरिटेज ट्रेन का प्रचार प्रसार हुआ वैसे वैसे यात्रियों की संख्या बढ़ती गई। इस ट्रेन एवं प्राकृतिक सौंदर्य के प्रति लोगों का आकर्षण बढ़ता जा रहा है। पिछले एक वर्ष में हेरिटेज ट्रेन के विभिन्न श्रेणियों में लगभग 94,899 पर्यटकों ने यात्रा किया जिससे लगभग रु 32,08,540/- की आय रेलवे को प्राप्त हुई है। 
अन्य सुविधाएं- हेरिटेज ट्रेन आरंभ करने के उपरांन्त विभिन्न सुविधाएं आरंभ की गई है। जैसे कालाकुंड स्टेशन पर रिटायरिंग रूम, पातालपानी स्टेशन पर वेटिंग लाउंज, स्टेशन एवं ट्रैक का पेंटिंग के माध्यम से सौंदर्यीकरण, लोहे के स्र्केप से बनी हुई आर्केस्ट्रा बैंड एवं अन्य कलाकृतियाँ, कालाकुंड स्टेशन पर कैटरिंग की सुविधा, स्टेशन के पीछे बहने वाली चोरल नदी में बोटिंग की सुविधा, बच्चों के लिए झुले, संग्रहालय, हेरिटेज वेटिंग रूम आदि। 
कालाकुंड स्टेशन के पास स्थित पहाड़ी को सभी मौसम में हरा-भरा रखने हेतु स्प्रिंकलर के माध्यम से पानी के छिड़काव की व्यवस्था की गई है जिसके कारण गर्मी के मौसम में भी यहाँ पर्यटकों का आना जारी रहा। 
दिनांक 25.12.2019 को रतलाम मंडल के पातालपानी कालाकुंड हेरिटेज ट्रेन का एक वर्ष पूरा होने के उपलक्ष्य में इस दिन हेरिटेज ट्रेन का विशेष रूप से साज सज्जा कर परिचालन किया जाएगा, केक काटी जाएगी एवं पर्यटकों को चॉकलेट का वितरण किया जाएगा।