*कोयला व्यवसायी से 2 लाख रूपये की लूट करने वाले शातिर बदमाश पुलिस थाना भवंरकुआ की गिरफ्त मे।*
December 11, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

*कोयला व्यवसायी से 2 लाख रूपये की लूट करने वाले शातिर बदमाश पुलिस थाना भवंरकुआ की गिरफ्त मे।*
 
*o फरार आरोपी जितेश को गुडगांव से किया गिरफ्तार*
*o आरोपीयो ने पहले की व्यापारी की रेकी फिर दिया घटना को अंजाम*
*o लूटा गया मश्रुका सहित घटना मे प्रयुक्त मोटर सायकल को पुलिस ने किया बरामद*
*o लूट के पैसो से एक आरोपी जीतेश गुडगांव की अलीशान होटल में कर रहा था मौज*

इन्दौर- दिनांक 12 दिसबंर 2019 - पुलिस थाना भवंरकुआ क्षेत्रांतर्गत दिनांक 06.12.19 को शिवमोती नगर निवासरत कोयला व्यवसायी ओमप्रकाश गर्ग पर उसके घर के बाहर ही रात करीब 08.05 बजे मोटर सायकल सवार 2 अज्ञात बदमाशो के द्वारा व्यवसायी के सिर में पत्थर से प्रहार कर घायल कर उसके पास बैग में रखे 02 लाख रुपये बेग सहित लूट लिये गये थे। उक्त घटना की सूचना पर मोटर सायकल सवार अज्ञात 02 आरोपियों के विरुद्ध पुलिस थाना भँवरकुंआ पर अप.क्र. 881/19 धारा 394 आईपीसी का प्रकरण दर्ज कर विवेचना मे लिया गया था।
 प्रकरण की गभीरता को देखते हुये वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इन्दौर शहर श्रीमती रुचिवर्धन मिश्र के द्वारा उक्त घटना का पर्दाफाश कर अज्ञात आरोपियो की पतारसी कर आरोपियों की गिरफ्तारी के निर्देश दिये गये। उक्त निर्देश के तारतम्य में पुलिस अधीक्षक (पश्चिम) श्री अवधेश कुमार गोस्वामी एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पश्चिम जोन-1 श्री गुरुप्रसाद पाराशर के मार्गदर्शन में नगर पुलिस अधीक्षक जुनी इन्दौर श्री दीशेष अग्रवाल के द्वारा थाना प्रभारी थाना भवंरकुआ श्री संजय शुक्ला के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन कर समूचित दिशा निर्देश देकर कार्यवाही के लिए लगाया गया।
 पुलिस टीम द्वारा अनुसंधान के दौरान अलग-अलग बिन्दुओं पर बारीकी से तफ्तीश की गई व लगातार 48 घंटे तक घटनास्थल एवं उसके आसपास के क्षेत्र का निरीक्षण कर आसपास के चारो तरफ के सीसीटीवी फुटेज को टीम के द्वारा लगातार खगाला गया। सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से सदिग्ध वाहनों की सूची तैयार की गई तथा प्रत्येक वाहन की बारीकी से तस्दीक करनें के पश्चात पाया गया की आरोपियों द्वारा घटना को अंजाम देने में जिस वाहन का उपोयग किया गया वह प्रकरण के एक आरोपी के पिता के नाम पर था। आरोपी की जानकारी प्राप्त करने के पश्चात् पुलिस टीम द्वारा आरोपी विशाल सोनी पिता राजेन्द्र सोनी को उसके निवास नीलकण्ठ कॉलोनी सदर बाजार से पुलिस अभिरक्षा मे लेकर सघनता से पूछताछ की गई। 
 आरोपी व्दारा बताया गया की पैसो की कमी के चलते उसने प्रकरण के अन्य आरोपी जितेश कसेरा पिता राजेंद्र कसेरा व्दारा मिलकर लूट की योजना बनाई व उसे अंजाम दिया। पूछताछ के दौरान यह भी पता लगा कि प्रकरण का अन्य आरोपी जितेश कसेरा घटना को अंजाम देने के बाद से फरार है। प्रकरण के आरोपी जितेश कसेरा की पतारसी हेतु गठित की गई टीम को असूचना संकलन तथा ओपन सोर्स ईंटेलिजेंस के माध्यम से ज्ञात हुआ की आरोपी जितेश कसेरा गुडगाव में है। फरार आरोपी की तलाश हेतु पुलिस टीम को दिल्ली रवाना किया गया। उक्त आरोपी जितेश कसेरा पिता राजेंद्र कसेरा गुडगाव में होटल में उपस्थित मिला जिसे पुलिस टीम द्वारा दिल्ली से इन्दौर लाया गया। आरोपी जितेश कसेरा ब्दारा पूछताछ में आरोपी विशाल सोनी के साथ घटना करना स्वीकार किया तथा बताया कि घटना कारित करने के पश्चात लूटे गये 2 लाख रुपयों को आपस में 1-1 लाख रुपया बाट लिये थे। आरोपियो द्वारा घटना में उपयोग कि गयी मोटर साइकिल को भी पुलिस टीम दारा आरोपी विशाल सोनी से जप्त की गई है। जिसे आरोपी व्दारा घटना के बाद वाहन की पहचान छुपाने की नियत से उसकी नंबर प्लेट हटा दी थी व उसे एक सुनसान गार्डन के पीछे छिपा दिया था। 
 उक्त सहरानीय कार्य में थाना प्रभारी श्री संजय शुक्ला, उप निरी बालकृष्ण रघुवंशी, सीमा धाकड़, राहुल अहिरवार, परि उनि. जयेन्द्रदत्त शर्मा, प्रआर संजय, आर प्रदीप, आर अभिनय, आर राहुल, आर . कमल नगर पुलिस अधीक्षक कार्यालय के आर उमेश व आर. मेहताब की विशेष भूमिका रही।