*इंदौर को बनाया जायेगा साइलेंट सिटी ऑफ इंडिया* *समन्वित कार्ययोजना बनाकर किया जायेगा क्रियान्वयन*
January 16, 2020 • धर्मेंद्र शुक्ला

*इंदौर को बनाया जायेगा साइलेंट सिटी ऑफ इंडिया*
*समन्वित कार्ययोजना बनाकर किया जायेगा क्रियान्वयन*
*ट्राफिक केबिनेट की बैठक सम्पन्न*
इंदौर 16 जनवरी 2020
इंदौर शहर में यातायात सुधार, वायु तथा ध्वनि प्रदूषण की रोकथाम के लिये विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। कलेक्टर श्री लोकेश कुमार जाटव की पहल पर इंदौर में इसके लिये ट्राफिक केबिनेट का गठन किया गया है। इस केबिनेट की प्रति सप्ताह बैठकें हो रही हैं। इन बैठकों में 12 विषय चिन्हित कर इनके दस्तावेज तैयार किये जा रहे हैं। इन दस्तावेजों के संबंध में विषय विशेषज्ञों की तथा जनता की सहभागिता लेकर निर्णयों का क्रियान्वयन किया जायेगा। यह दस्तावेज सार्वजनिक भी किये जायेंगे। आज सम्पन्न हुई ट्राफिक केबिनेट की बैठक में इंदौर शहर को साइलेंट सिटी ऑफ इंडिया बनाने का निर्णय लिया गया। इस संबंध में विभिन्न संबंधित विभागों द्वारा समन्वित कार्ययोजना बनाकर उसका क्रियान्वयन किया जायेगा। 
ट्राफिक केबिनेट की बैठक आज मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा आयोजित कार्यशाला के प्रथम सत्र में आयोजित की गई। इस कार्यशाला में शहर के विषय विशेषज्ञ, उद्योगपति, छात्र-छात्राएं और शासकीय अधिकारी, पुलिस के अधिकारी आदि शामिल हुए। इन्होंने शहर को साइलेंट सिटी ऑफ इंडिया बनाने के संबंध में अपने महत्वपूर्ण सुझाव दिये। इस अवसर पर कलेक्टर श्री लोकेश कुमार जाटव, नगर निगम आयुक्त श्री आशीष सिंह, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी श्री आर.के. गुप्ता, केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के श्री एस.के. मीणा, मध्यप्रदेश इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री प्रमोद डफरिया विशेष रूप से उपस्थित थे। 
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कलेक्टर श्री लोकेश कुमार जाटव ने इंदौर शहर में पर्यावरण सुधार के लिये वायु तथा ध्वनि प्रदूषण को कम करने के लिये किये जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इंदौर शहर को वायु तथा ध्वनि से प्रदूषण मुक्त करना अत्यन्त जरूरी हो गया है। इसके लिये प्रशासन द्वारा जनता के सहयोग से विभिन्न विभागों द्वारा प्रयास कर सार्थक परिणाम हासिल किये जा रहे हैं। पिछले दिनों आयोजक तथा जनता के सहयोग से अनंत चतुर्दशी चल समारोह और अन्य समारोह में डीजे को प्रतिबंधित किया गया। इसके अच्छे परिणाम मिले। सभी के सहयोग से आगे भी सभी आयोजनों में बगैर अनुमति के डीजे को प्रतिबंधित रखा जायेगा। शहर में साइलेंट जोन पर प्रतिबंधों का पूर्ण पालन कराया जायेगा। शहर में लोक परिवहन सेवा को विस्तारित किया जायेगा। आटो रिक्शा के अब नये परमिट देने पर रोक लगाने के लिये शासन को प्रस्ताव भेजा जायेगा। लोक परिवहन वाहनों के फ्रिक्वेंसी बढ़ाई जायेगी। उन्होंने कहा कि जनता की समस्या को जनता का सहयोग लेकर ही दूर किया जायेगा। 
कार्यक्रम को नगर निगम आयुक्त श्री आशीष सिंह ने भी सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि इंदौर में स्वच्छता के संबंध में मिल रही उपलब्धियों से प्रदूषण नियंत्रण में मदद मिल रही है। उन्होंने बताया कि शहर को धूल मुक्त करने के लिये अत्याधुनिक मशीनों का उपयोग किया जा रहा है। इनकी संख्या बढ़ाकर दो गुना किया जायेगा। कार्यक्रम के प्रारंभ में क्षेत्रीय अधिकारी श्री आर.के. गुप्ता ने स्वागत भाषण दिया। कार्यक्रम में श्री प्रमोद डफरिया ने भी सम्बोधित किया।