हमें आरक्षण के खिलाफ मिलकर लढना हैं-डॉ. अविनाश चौधरी*
September 8, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

 

*हमें आरक्षण के खिलाफ मिलकर लढना हैं-डॉ. अविनाश चौधरी*

कान्यकुब्ज ब्राह्मण मंडल के अध्यक्ष राकेश शुक्ला, डॉ. अविनाश चौधरी, डॉ. नितीन राठी, डॉ. गोपाल बेलोकार, डॉ. अटल तिवारी, रमेश दीक्षित..

डॉ. नितीन राठीजीने  SAVE MERIT SAVE NATION के तहत शासन की आरक्षण की पॉलिसी को गलत बता कर आरक्षण का विरोध दर्शाया. 50% के उपर आरक्षण नहीं होना चाहिए. आरक्षण के धारक हर स्टेज पर आरक्षण मिलाते हैं और काबील लोगो से ज्यादा अच्छी सुविधा प्राप्त कर रहे हैं. आरक्षण की लढाई आनेवाली पिढिया बरबाद कर देगी. आरक्षीत व्यक्ती ना-समझ की वजह से बॉस बनकर उच्चविद्याप्राप्त व्यक्तीयों पर राज करेगा. आने वाले 15 सीतंबर को आरक्षण हटाओ मेरिट बचाओ रॅली का आयोजन.

डॉ. अविनाश चौधरी ने बताया आप अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज का नेतृत्व कर रहे हैं. आरक्षण की शुरुवात शाहू महाराज ने 1882 मे अच्छे मनोकामना के साथ किया, 1938 मे ईसे अमान्य किया मगर, 1947 मे पहला पोलिटिकल आरक्षण शुरु हुवा. मंडल आयोग ने OBC को शामिल कर 200 जातीयो को उसमे जोड कर क्रिमिलेयर का नाटक किया गया. इंद्रा सहानी