माननीय केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री जी ने किया पैन एंड पैलिएटिव केयर सेंटर का उद्घाटन*
August 25, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

*माननीय केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री जी ने किया पैन एंड पैलिएटिव केयर सेंटर का उद्घाटन*


दिनांक-23 अगस्त 2019 को देश की राजधानी नई दिल्ली के हौज खास में सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र,पटना द्वारा देश के प्रमुख केंद्र के रूप में स्थापित किये जा रहे Cancer Pain and Palliative Care Center का उद्घाटन भारत सरकार के माननीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे जी द्वारा किया गया।

मंच के संचालन कर्ता व IEHMC के अध्यक्ष डॉ. वी.कुमार ने माननीय मंत्री जी व अन्य मंचासीन गणमान्य हस्तियों का परिचय कराते हुए सभी का अभिनन्दन किया।

उद्घाटन समारोह में माननीय मंत्री जी ने कहा की उनके लिए यह अति प्रसन्नता व संतोष का विषय है की पटना के सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र के निदेशक डॉ. के.पी. सिन्हा, डॉ. प्रभात कुमार श्रीवास्तव व डॉ. अभिषेक कुमार द्वारा किये गए कई दशकों के गहन रिसर्च व अथक प्रयास के बाद ईजाद की गई कैंसर दर्द की अचूक इलेक्ट्रो होम्यो पैथिक दवा "गैंग्रीनॉल फोर्ट" की सफलता का रथ आज उस मुकाम पर पहुंच चुका है की जहाँ से अब इस अद्भुत दवा व इसके विज्ञान का जनहित में व्यापक स्तर पर प्रचार व प्रसार करके हमारी संस्कृति की मूल भावना व आकांक्षा "सर्वे सन्तु निरामयाः" को साकार करते हुए कैंसर जैसे गम्भीर रोगों से त्रस्त मानव समाज को निजात दिलवाकर लाभान्वित किया जा सकता है। 

उन्होंने कहा की चिकित्सा क्षेत्र में सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र, पटना की उत्कृष्ट कार्यशैली के माध्यम से इस अद्भुत चिकित्सा विज्ञान के जिन अभूतपूर्व चिकित्सकीय नतीजों को मैंने अपने बिहार के स्वास्थ्य मंत्री काल से लेकर वर्तमान समय तक अनेकों मरीजों पर देखा है, उस आधार पर मैं कह सकता हूँ की तमाम तकनीकी उन्नति के बावजूद कैंसर जैसे गम्भीर रोगों से पीड़ित मानव समाज में व्याप्त त्राहिमाम के बीच डॉ. के.पी. सिन्हा एवं उनकी टीम ने आज इस चिकित्सा विज्ञान के रूप में समाधान देकर स्वास्थ्य क्षेत्र में एक नए युग की शुरुआत की है। और पटना स्थित अनुसंधान केंद्र द्वारा विकसित स्ट्रेंथ टेस्ट डेमोंस्ट्रेशन की तकनीक के जरिये मैंने यह स्वयं देखा व महसूस किया है की इस अद्भुत चिकित्सा विज्ञान की उनकी दवाएं किस प्रकार बिजली की गति से असर करके व्यक्ति को अंदरूनी ताकत प्रदान करती हैं, एवं इसी से जाना की कैसे "गैंग्रीनॉल फोर्ट" दवा को भी कैंसर मरीजों पर अप्लाई करने के कुछ ही समय में मरीज को असहनीय दर्द में राहत मिल जाती है, जो कि अपने आप में चिकित्सा जगत में एक नया शुभारंभ है। 

हमारे माननीय प्रधानमंत्री जी श्री नरेंद्र भाई मोदी जी के स्वर्णिम सपने "आयुष्मान भारत" के प्रारूप में Preventive, Promotive, Curative के साथ आने वाले उसके अभिन्न अंग Palliative care की जिम्मेदारी में केंद्र सरकार के भागीदार के रूप में देश के विभिन्न हिस्सों में कैंसर पैन एंड पैलिएटिव केयर सेंटर खोलकर जिस तरह कैंसर जैसे जटिल रोग से निपटने में सरकार के अभियान में सहयोग किया जा रहा है उसके लिए अनुसंधान केंद्र का आभार व्यक्त करता हूँ।

सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र के निदेशक डॉ. के.पी. सिन्हा जी ने माननीय केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री जी का आभार व्यक्त करते हुए कहा की इलेक्ट्रो होम्यो पैथी में वर्षों की गहन प्रैक्टिस के अनुभव के आधार पर 1999 में आविष्कृत की गई कैंसर की दवा "गैंग्रीनॉल फोर्ट" ने जो पिछले दो दशकों में अनेकों कैंसर मरीजों पर जो परिणाम दिए हैं एवं जिसके गवाह हमारे माननीय मंत्री जी भी अपने बिहार मंत्रीत्व काल से ही रहे हैं की किस प्रकार इस दवा का उपयोग कैंसर मरीज पर होते ही आधे घण्टे के अंदर तत्काल अपना असर दिखाना शुरू कर देती है और कैंसर के असहनीय दर्द में उसी समय से अत्यधिक राहत मिलती है। जिसके बाद स्वयं मरीज उसी समय अपने स्वास्थ्य की बेहतरी का अनुभव बताते हैं।  

पिछले चार दशकों में इस अद्भुत चिकित्सा विज्ञान में सीमित संसाधनों के बावजूद कैंसर जैसे जटिल रोगों में अभी तक मिले ऐसे ही अनेकों अभूतपूर्व नतीजों के आधार पर आज मैं इस उद्घाटन समारोह के अवसर पर मंत्री जी व मीडिया बन्धुओं के माध्यम से भारत सरकार को आश्वस्त करना चाहूँगा की
आज समाज में कैंसर जैसे जटिल रोगों के बढ़ते प्रसार के मद्देनजर वर्तमान समय में preventive and curative चिकित्सा का सबसे अनुकूल विकल्प होने के साथ साथ आज जिस प्रकार से भारत सरकार इस चिकित्सा विज्ञान को समर्थन दे रही है तो वह दिन दूर नहीं होगा की जब इस अद्भुत विज्ञान के माध्यम से लगभग सभी जटिल रोगों में प्रभावशाली परिणाम देकर माननीय प्रधानमंत्री जी के सपने "आयुष्मान भारत" को साकार करने में हमारा अनुसंधान केंद्र अग्रणी भूमिका निभा सकता है। 

सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र के उप-निदेशक डॉ. प्रभात कुमार श्रीवास्तव ने बताया की चिकित्सा क्षेत्र विशेषकर कैंसर रोग में सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र,पटना के योगदान के मद्देनजर एवं जनहित में इलेक्ट्रो होम्यो पैथी चिकित्सा विज्ञान को बड़े स्तर पर और अधिक उपयोगी एवं व्यवहारिक बनाने हेतु, माननीय केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे जी के निर्देशानुसार स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दिनांक-13/2/2019 को सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र,पटना को पूरे भारतवर्ष में बतौर संरक्षक संपूर्ण इलेक्ट्रो होम्यो पैथी जगत का प्रतिनिधित्व करने का जिम्मा सौंपा गया है एवं प्रधानमंत्री जी के सपने "आयुष्मान भारत" में अग्रणी भूमिका निभाने के उद्देश्य से सरकार के ही दिशा निर्देशन में कैंसर के खिलाफ लड़ाई में सहभागिता निभाते हुए सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र द्वारा पूरे भारतवर्ष में 108 कैंसर पैन एंड पैलिएटिव केयर सेंटर खोले जाने का निश्चय किया गया है। 

डॉ. प्रभात ने कहा की इसी कड़ी में कुछ ही समय में मुंबई जैसे शहरों में ऐसे सेंटर्स खोले जाने के बाद अब देश की राजधानी में ही प्रमुख कैंसर पैन एंड पैलिएटिव केयर सेंटर खोला जा रहा है एवं दिल्ली में खुल रहे हमारे इसी सेंटर में कैंसर के इलाज के लिए इलेक्ट्रो होम्यो पैथी के अन्य चिकिस्तकों को ट्रेनिंग देने की व्यवस्था भी की गई है ताकि देश के हर कोने में EHP के माध्यम से कैंसर पर इसी उत्कृष्टता से काम करके समाज को लाभान्वित करते हुए भारत सरकार के "आयुष्मान भारत" के सपने को साकार करने में अपनी अधिकाधिक भागीदारी सुनिश्चित कर सके। 

पद्मश्री से सम्मानित दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट,दिलशाद गार्डन के पूर्व निदेशक डॉ. आर.के. ग्रोवर ने केंद्र के निदेशक डॉ. के.पी. सिन्हा को बधाई देते हुए कहा की किसी भी तरह के रिसर्च या क्लीनिकल ट्रायल की प्रक्रिया में सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र का हर प्रकार से सहयोग किया जायेगा। अनुसंधान केंद्र की गैंग्रीनॉल फोर्ट दवा तुरंत लक्षणात्मक राहत देता है और कैंसर के ट्यूमर को हटाने में भी प्रभावी हो सकता है। उन्होंने इस पर प्रासंगिक और सुपाठ्य डेटा प्राप्त करने के लिए Pilot Study करने की आवश्यकता बताई।

अंत में दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट, दिलशाद गार्डन, नई दिल्ली के क्लीनिकल ऑन्कोलॉजी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. अरुण झां ने उद्घाटन के लिए बधाई देते हुए कहा की इस खूबसूरत ग्रह से कैंसर को खत्म करने के लिए अनुसंधान केंद्र की पूरी टीम कड़ी मेहनत कर रही है। इनकी गैंग्रीनॉल फोर्ट दवा उन रोगियों को तत्काल प्रभाव देती है जो असहनीय दर्द में हैं। यह स्थानीय या मौखिक रूप से दोनों रूपों में लागू किया जा सकता है।  इस दवा ने शुरुआती चरण या उन्नत चरण के कैंसर दर्द में जबरदस्त परिणाम दिखाया है।

कार्यक्रम के सफल संचालन व आयोजन में पटना अनुसंधान केंद्र की कोर टीम के सक्रीय सदस्य डॉ. अभिषेक कुमार (असिस्टेंट रिसर्च एडवाइजर)पटना व जयपुर के डॉ. के.के. नेहरा (मुख्य सहयोगी) का मुख्य योगदान रहा।

हौज खास के इस सेंटर के व्यवस्थापक डॉ. बी.के. शर्मा, दिल्ली रहे।

उद्घाटन समारोह में देश के कई प्रमुख EHP चिकित्सक सम्मिलित हुए, जिनमें डॉ. पी.के. शुक्ला प्रयागराज, डॉ. अरुण झां (Head of Clinical Oncology Department, DSCI, दिल्ली), डॉ. बी.के. शर्मा दिल्ली, डॉ. आनंद सिन्हा रायबरेली, डॉ. अमित सिंह सतना, डॉ. सुरेश जायसवाल मुम्बई, डॉ. प्रशांत शुक्ला कानपुर, डॉ. हरी सिंह यादव अलीगढ़, डॉ. एस. पी. वर्मा बस्ती, डॉ. राजकुमार शर्मा सीकर, डॉ. रणजीत सीकर, डॉ. विकास तोमर हापुड़, डॉ. टी.एस. खर्ब पानीपत, डॉ. जतिंदर सिंह तरण तारण, डॉ. रेणु सचदेवा दिल्ली, डॉ. राहिल दिल्ली, डॉ. अलका कानपुर, डॉ. डी. पी. मिश्रा दिबियापुर, डॉ. के.डी. तिवारी दिल्ली सहित सैकड़ों इलेक्ट्रो होम्यो पैथिक चिकित्सक मौजूद रहे।

*उद्घाटन समारोह में मंचासीन गणमान्य लोगों का विवरण:-*

-माननीय केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे जी (मुख्य अतिथि)

-डॉ. आर.के. ग्रोवर (पद्मश्री सम्मानित) पूर्व निदेशक, दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट,दिलशाद गार्डन, नई दिल्ली) (विशिष्ट अतिथि)

--डॉ. के.पी. सिन्हा (निदेशक, सिन्हा इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र, पटना)

-डॉ. प्रभात कुमार श्रीवास्तव (उप-निदेशक, इलेक्ट्रो होम्यो अनुसंधान केंद्र, पटना)

-डॉ. वी.कुमार (अध्यक्ष, इंडियन इलेक्ट्रो होम्यो पैथिक मेडिकल कॉउंसिल,नई दिल्ली)।