महाकाल मंदिर में वीआईपी दर्शन का समय दो घंटे से बढ़ा कर चार घंटे किया
September 4, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

     महाकाल मंदिर में वीआईपी दर्शन का समय दो घंटे से बढ़ा कर चार घंटे किया

सामान्य दर्शनार्थियों को गर्भगृह में दर्शन की सुविधा फिर से शुरू हो जाएगी
केवल दो घंटे में प्रोटोकॉल और रसीद वाले श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए समय कम रहता है
उज्जैन.महाकालेश्वर मंदिर में एक बार फिर वीआईपी दर्शन व्यवस्था में बदलाव किया गया है। वीआईपी दर्शन का समय दो घंटे से बढ़ा कर चार घंटे कर दिया है। लेकिन शेष समय में अब सामान्य दर्शनार्थियों को गर्भगृह में प्रवेश दिया जाएगा। इससे सामान्य दर्शनार्थियों को गर्भगृह में दर्शन की सुविधा फिर से शुरू हो जाएगी।
यह फैसला बुधवार से लागू होगा। महाकाल मंदिर में प्रोटोकॉल और अभिषेक रसीद से गर्भगृह में जाकर दर्शन करने के लिए 23 अगस्त को मंत्रियों की समिति ने वीआईपी दर्शन का समय सुबह 6 से 7 व दोपहर को 3 से 4 बजे तय कर दिया था। इस फैसले के बाद सामान्य दर्शनार्थियों को गर्भगृह में प्रवेश पूरी तरह बंद कर दिया गया था। इस तय समय के बाद किसी को भी गर्भगृह में पूजन की अनुमति नहीं दी जा रही थी। इस नई व्यवस्था का मंदिर के पंडे-पुजारियों ने विरोध शुरू कर दिया था। इस संबंध में पुजारियों ने मंदिर समिति अध्यक्ष कलेक्टर शशांक मिश्र को ज्ञापन भी दिया था। प्रभारी मंत्री सज्जनसिंह वर्मा के साथ भी मोबाइल पर चर्चा की थी।
पुजारियों-पुरोहितों की मांग थी कि 1500 रुपए की अभिषेक रसीद से गर्भगृह में पूजन करने वाले श्रद्धालुओं को वीआईपी समय के बाद भी प्रवेश दिया जाए। केवल दो घंटे में प्रोटोकॉल और रसीद वाले श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए समय कम रहता है। इस व्यवस्था से आम दर्शनार्थी भी गर्भगृह में दर्शन पूजन नहीं कर पा रहे।