दिन दहाड़े घरो के ताले तोडकर चोरी करने वाले 2 सातिर नकवजन क्राइम ब्रांच इंदौर की गिरफ्त में
August 7, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला


★ *दिनदहाड़े घरों के ताले तोड़कर चोरी करने वाले 02 शातिर नकबजन क्राईम ब्रांच इंदौर की गिरफ्त में।*

★ *आरोपियों ने थाना राउ , एरोड्रम , व्दारिकपुरी , खजराना , व्दारिकापुरी , सनावद व रतलाम में चोरी की वारदातें करना कबूला।* 

★ *आरोपीगण से चोरी की तीन एलईडी टी0 वी0 व सोने चांदी के जेवरात कीमती करीबन पांच लाख रुपये के बरामद।*

★ *सरगना है देपालपुर थाने का हिस्ट्रीशीटर, आरोपी पर पूर्व से ही दर्ज हैैं 2 दर्जन से अधिक अपराध।*

★ *जेल में सजा काटने के दौरान हुई दोस्ती, 02 दर्जन से अधिक मास्टर चाबियों के गुच्छे को करते थे चोरी के लिये प्रयोग।*

        वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्रीमति रूचिवर्धन मिश्र इन्दौर (शहर) व्दारा शहर में चोरी, नकबजनी, स्नैचिंग व लूट के बढ़ते अपराधों पर अंकुश लगाने के लिये ऐसे कृत्यों में लिप्त अपराधियों की पतासाजी कर उनकी धरपकड़ करने तथा मश्रूका बरामद करने हेतु इंदौर पुलिस को निर्देशित किया गया। उक्त निर्देशों के तारतम्य में पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) इंदौर श्री सूरज वर्मा के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (क्राईम ब्रांच) श्री अमरेन्द्र सिंह व्दारा क्राईम ब्रांच की समस्त टीम प्रभारियों को इस दिशा में योजनाबद्ध तरीके से प्रभावी कार्यवाही करने हेतु समुचित दिशानिर्देश दिये गये थे।

 

          क्राईम ब्रांच इंदौर की टीम को इस कड़ी में पतासाजी के दौरान  मुखबिर तंत्र के माध्यम से सूचना मिली थी कि 02 व्यक्ति थाना राउ क्षेत्र में एक लोहे की टॉमी व चाबी का गुच्छा लिये हुये वारदात करने के नियत से घूम रहे हैं। सूचना पर तत्काल कार्यवाही करते हुये थाना राउ पुलिस के साथ संयुक्त कार्यवाही करते हुये थाना राउ क्षेत्र में सघन छानबीन  का पतासाजी कर दो संदेहियों को घेरांबदी कर पकड़ा जिन्होंनें अपने नाम (1) मनोज पिता प्रकाश दर्जी उम्र 40 साल निवासी कृष्णधाम कालोनी देपालपुर देवी माता मन्दिर के पास इन्दौर एवं (2) सादिक पिता साबिर उम्र 33 साल निवासी सिरपुर, सहयोग नगर, इन्दौर का होना बताये।


उपरोक्त दोनों व्यक्तियों की संदेह के आधार पर तलाशी लेने पर उनके कब्जे से एक लोहे की बड़ी टॉमी व एक चाबी का गुच्छा बरामद हुआ जिसमें 02 दर्जन से अधिक चाबियां थी।   पूछताछ के दौरान दोनों व्यक्तियों ने कबूल किया कि वह चोरी करने की नियत से घूम रहे थे तथा पूर्व मे भी उस इलाके मे चोरी की वारदातें कर चुके हैं। 


आरोपी मनोज दर्जी ने बताया कि वह वर्ष 2004 से लगातार दो पहिया वाहन चोरी व सूने घरों तथा दुकानों के ताले तोड़कर नकबजनी की वारदातें करते आ रहा है। आरोपी ने बताया कि वह नशा करने का आदी हैं तथा नषे के लिये मादक पदार्थ खरीदने के लिये रूपयों की अवष्यकता के चलते चोरी करता है।

1. आरोपी मनोज ने पूछताछ में खुलासा किया कि उसने, उसके साथी सादिक के साथ, थाना एरोड्रम क्षेत्र के सूरजबली नगर मे एक सूने मकान में दिन में ताला तोड़कर एलईडी टी वी, दो जोड़ चांदी की पायल व एक सोने का मंगलसूत्र चोरी किया था जिसके संबंध में तस्दीक करने पर, थाना एरोड्रम मे अपराध क्रमाँक 382/19 धारा 454 380 भादवि का पंजीबध्द होना ज्ञात हुआ। 


2. आरोपी मनोज ने साथी सादिक के साथ मिलकर राउ क्षेत्र मे ब्रजविहार कालोनी मे एक सूने मकान मे दिन मे ताला तोड़कर एक एलईडी टीवी, एक सोने की चैन व एक जोड़ कान की झुमकी आदि मश्रूका चोरी करना बताया जिसके संबंध में तस्दीक करने पर थाना राउ मे अपराध क्रमाँक 213/19 धारा 454, 380 भादवि का पंजीबध्द किया जाना पाया गया।

3. आरोपी मनोज व सादिक ने खजराना थाना क्षेत्र, व्दारीकपुरी थाना क्षेत्र, थाना सनावद खरगोन  तथा रतलाम मेंं सूने मकानों मे ताला तोड़कर चोरी करने की वारदातें स्वीकार की  दौराने पतासाजी, थाना सनावद मे अपराध क्रमांक 256/19 धारा 454, 380 भादवि का पंजीबध्द किया जाना पाया गया, जिसमें आरोपीगणों व्दारा सोने चांदी के जेवरात सहित मंहगे इलेक्ट्रानिक उपक्रम चोरी किये गये थे। आरोपीगणों से एलईडी टीवी बरामद की जा चुकी है। 

आरोपी मनोज दर्जी ने पूछताछ में बतााय कि वह कक्षा 5वीं तक पढ़ा है तथा सिलाई का काम करता था। आरोपी के विरुध्द थाना देपालपुर मे चोरी व नकबजनी के 02 दर्जन से अधिक अपराध पंजीबध्द हैं। आरोपी मनोज थाना देपालपुर का हिस्ट्रीशीटर बदमाश भी है। 


           आरोपी सादिक ने बताया कि वह कक्षा पांचवी तक पढ़ा है तथा वर्तमान मे कपड़े बनाने के कारखाने पर काम करता है। आरोपी के उपर लडाई झगड़े, हत्या का प्रयास, चोरी, आर्म्स एक्ट, लूट आदि जैसे 15 अपराध पूर्व से पंजीबद्ध है। 


आरोपी ने खंडवा में एक डाक्टर से लूट की थी जिसमे उसे 7 साल की सजा हुई थी, आरोपी तत्समय देपालपुर जेल मे बंद था तभी उसकी जेल में पहचान मनोज दर्जी से हो गई थी  दोनो ने जेल से छूटने के बाद से इन्दौर मे साथ रहना शुरु कर दिया तथा चोरी की वारदात को अंजाम देने लगे। 
आरोपीगणों ने बताया की राउ, खजराना, व्दारिकापुरी, सनावद, एरोड्रम में तथा रतलाम में उन्होनें गत माहों में लगातार चोरियों की हैं। चोरी का माल बेचकर प्राप्त रूपयों से दोनों नशा करते थे। आरोपीगणों का कृत्य धारा 401 भादवि से दंडनीय होने से आरोपीगणों पुलिस अभिरक्षा में लिया गया है जिसके विरूद्ध थाना राउ में अग्रिम वैद्यानिक कार्यवाही की जा रही है। अपराध क्रमाँक 298/2019 धारा 401 भादवि का कायम कर विवेचना मे लिया गया । 


          क्राईम ब्राँच की टीम को दो शातिर चोर नकबजन को पकडने में सफलता मिली है जिनसे कुल पांच चोरी व नकबजनी की वारदातों का खुलासा हुआ है।