दिग्गी राजा का भोपाल विज़न ले रहा आकार, कमलनाथ कर रहे जनता के सपनों को साकार...
September 28, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

दिग्गी राजा का भोपाल विज़न ले रहा आकार, कमलनाथ कर रहे जनता के सपनों को साकार...

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने 2019 के लोकसभा चुनाव में भोपाल संसदीय सीट से चुनाव लड़ा। चुनाव के दौरान उन्होंने भोपाल के सुसंगत और सुनियोजित विकास की परिकल्पना लिए एक विज़न डॉक्यूमेंट जनता के समक्ष रखा जिसमें हर तरह की विकासोन्मुखी योजनाएं सम्मिलित की गईं। लेकिन जनता ने जनप्रतिनिधि के चुनाव करने में भूल कर दी और भूल मैं इसीलिए कह रहा हूँ कि चुनाव में प्रतिकूल परिणाम आने के बाद भी भोपाल में दिग्विजय सिंह की सक्रियता किसी से छिपी नहीं है। जहां चुनावों में विपरीत परिणाम आने के बाद लोग अवसाद की स्थिति में आ जाते हैं वहीं दिग्विजय सिंह जनता के निर्णय को शिरोधार्य करते हुए और भी मजबूती व प्रतिबद्धता के साथ भोपाल के विकास कार्यों को करने के लिए कृत संकल्पित नज़र आ रहे हैं। 

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ बैठक की और उनसे निवेदन किया कि वे भोपाल विज़न डॉक्यूमेंट के हिसाब से भोपाल का विकास करना चाहते हैं और उसमें उनके सहयोग की आवश्यकता पड़ेगी। विकास पुरुष के नाम से चर्चित मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दिग्विजय सिंह को आश्वस्त किया कि वे भोपाल विज़न पर काम करें प्रदेश सरकार हर संभव मदद करेगी। 

मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्गी राजा की जुगलबंदी और दोनों ही नेताओं के दीर्घ राजनीतिक अनुभव से आज भोपाल ही नही समूचा मध्यप्रदेश विकास के नए आयाम छू रहा है। भोपाल विज़न डॉक्यूमेंट को अक्षरशः प्रतिपादित करने के लिए दिग्विजय सिंह दिन रात काम कर रहे हैं। बीते 15 वर्षों के बीजेपी शासनकाल में एक बार भी भोपाल मास्टर प्लान पर काम नही हुआ। पिछला मास्टर प्लान दिग्विजय सिंह शासन काल में आया था। भोपाल विज़न डॉक्यूमेंट में मास्टर प्लान की बात प्रमुखता के साथ की गई है और बहुत जल्द ही मध्यप्रदेश शासन का नगरीय प्रशासन विभाग भोपाल के नए मास्टर प्लान को मूर्त रूप दे देगा।

भोपाल में परिवहन को सुगम व सरल बनाने और लोक परिवहन को बढ़ावा देने की दिशा में व सिहोर व मंडीदीप जैसे क्षेत्रों को भोपाल से जोड़ने के लिए दिग्विजय सिंह ने भोपाल विज़न डॉक्यूमेंट में मेट्रो रेल की आवश्यकता को बल दिया और आज समूचे देश के 6 बड़े शहरों को मेट्रो रेल की सौगात देने वाले दूरदर्शी नेता मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भोपाल शहर को "भोज मैट्रो" रेल परियोजना भोपाल की आधार शिला रख दिग्विजय सिंह के भोपाल विज़न को भी पूरा करने का काम किया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केंद्र में पर्यावरण मंत्री रहते हुए भोपाल लेक के शुद्धिकरण व नवीनीकरण का अविस्मरणीय कार्य किया था तथा आज जो बड़े-बड़े वृक्ष भोपाल शहर में दिखाई देते हैं जिनकी वजह से हमारा शहर हरा-भरा जान पड़ता है ये सब तत्कालीन केंद्रीय पर्यावरण मंत्री कमलनाथ जी के प्रयासों का प्रतिफल है। मुख्यमंत्री कमलनाथ के प्रकृति व झीलों के प्रति प्रेम की वजह से दिग्विजय सिंह के भोपाल विज़न में भोपाल के झीलों और तलाबों को संरक्षित और विकसित करने के लिए तालाबों के लिए नया मास्टर प्लान लाने की बात को अंगीकृत करते हुए मध्यप्रदेश सरकार ने तालाबों के संरक्षण के लिए झील संरक्षण प्राधिकरण की समीक्षा कर विस्तारित करने की योजना बनाई है जिसके अंतर्गत लेक कैचमेंट प्रोटेक्शन एक्ट भी बनाया जाएगा।

दिग्विजय सिंह के भोपाल विज़न डॉक्यूमेंट के अनुसार ही मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दिनांक 26 सितंबर 2019 को राष्ट्रीय राजधानी परियोजना परिक्षेत्र को विस्तारित करने की घोषणा की। इसी तरह भोपाल विज़न के अनुसार बीआरटीएस और पब्लिक ट्रांसपोर्ट के सुधार के लिए जुलाई में एक एक्सपर्ट कमेटी का गठन किया गया। विज़न डॉक्यूमेंट में प्राचीन धरोहरों को विकसित कर कॉरिडोर बनाने के लिए सितंबर माह में भोपाल के मोती महल में विशेषज्ञों की बैठक रखी गई। भोपाल विज़न में ही बीएचईएल व होशंगाबाद रोड जैसे क्षेत्रों में वर्टिकल डेवलपमेंट की बात को आगे बढाते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ आबादीय बोझ को कम करने के लिए भोपाल शहर को फैलाने की बात कर रहे हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भोपाल विज़न डॉक्यूमेंट के बिंदुओं को जिस तेजी से पूरा कर रहे हैं आगे आने वाले वर्षों में जनता को एक नया भोपाल, एक विकसित भोपाल देखने को मिलेगा। विज़न डॉक्यूमेंट में लिखित योजनाएं जैसे-जैसे मूर्त रूप ले रही हैं, भोपाल में विकास की एक नई इबारत के साथ नए अध्याय जुड़ना प्रारम्भ हो गए हैं। प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जिस तरह छिंदवाड़ा को विकास का पर्याय बनाया है उसी तरह दिग्विजय सिंह कमलनाथ सरकार के सहयोग से भोपाल विज़न डॉक्यूमेंट के एक-एक बिंदुओं पर काम कर भोपाल को भी उसी कतार में खड़ा कर सुसंगत और सुनियोजित विकास की मिसाल कायम करेंगे।