खूबसूरती और रोमांच का अद्भुत संगम :- डोडी ताल भगवान श्री गणेश जी की जन्मस्थली
September 2, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

खूबसूरती और रोमांच का अद्भुत संगम :- डोडी ताल भगवान श्री गणेश जी की जन्मस्थली

खूबसूरती और रोमांच का अद्भुत संगम डोडीताल झील, डोडीताल हिमालय की गोद में बसा छोटा सा हिल स्टेशन है। डोडीताल प्रकृति प्रेमियों और ट्रेकिंग के प्रति उत्साही के लिए लोकप्रिय स्थानो  में से एक है, भारत के सबसे खूबसूरत झील में से एक के रूप में माना जाता है। डोडी ताल उत्तराखंड की मीठे पानी की सुन्दर झील हिमालय ट्राउट के लिए मश्हूर है,

गंगोरी नामक स्थल से अगोड़ा के रास्ते पर लगभग 22 किलोमीटर की दूरी पर स्थित डोडी ताल हैं।

पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान गणेश का जन्म डोडीताल में हुआ था,
डोडी ताल समुद्र से 3024 मीटर (9921 फीट) की ऊंचाई पर स्थित है। यह खूबसूरत पर्यटन स्थल चारो तरफ से पहाड़, घास के मैदान और जंगल  से घिरा हुआ है, पौराणिक कथाओं के अनुसार यह भगवान गणेश का जन्म हुआ था, यहां भगवान गणेश को समर्पित एक मंदिर भी  है। इस झील को गणेश का ताल या गणेश की झील के नाम से भी जाना जाता  है , इस ताल की उत्पत्ति प्राकृतिक झरने और एएसआई गंगा नदी के स्रोत से हुयी है.

हिमालय क्षेत्र की प्रसिद्ध ट्राउट मछलियाँ भी यहाँ पाई जाती हैं।

चारों ओर से घने वनों से लदा हुआ है डोडी ताल
ट्रेकर्स के लिए डोडीताल किसी स्वर्ग से कम नहीं है। डोडीताल हमेशा से ही पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता रहा है यही वजह है कि आज भी डोडी ताल में सैकड़ों की तादाद में पर्यटकों का देश और विदेशो से आना जाना लगा रहता है। डोडी ताल संगम चट्टी से 22km ट्रेकिंग द्वारा दो दिन में पहुंचा जा सकता है।

डोडीताल ,उत्तरकाशी स्थित भगवान गणेश को समर्पित मंदिर