खतरे के निशान से 11 मीटर ऊपर पहुंची चंबल नदी*
September 15, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

*खतरे के निशान से 11 मीटर ऊपर पहुंची चंबल नदी*

मध्यप्रदेश और राजस्थान में हो रही भारी बारिश के कारण चंबल नदी का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। यह खतरे के निशान से 11 मीटर ऊपर तक पहुंच गया है। इसके चलते धौलपुर जिले के दो दर्जन गांवों में चंबल नदी का पानी घुस गया है। चंबल नदी का खतरे का निशान 129.79 मीटर है, जबकि यह 140.80 मीटर ऊपर बह रही है। हालात को देखते हुए हाई अलर्ट जारी किया गया है। भारी बारिश के चलते झालावाड़ जिला प्रशासन ने कल के लिए सभी स्कूलों को बंद रखने के आदेश दिए हैं। 

सीएम अशोक गहलोत के निर्देश पर पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने रविवार को इन गांवों का दौर किया। मध्यप्रदेश के साथ-साथ राजस्थान के कोटा संभाग में हो रही भारी बारिश का असर धौलपुर जिले में भी देखा जा रहा है। कोटा में कोटा बैराज के 19 गेट खोल कर करीब 7 लाख क्यूसेक पानी रिलीज किया जा रहा है। इससे कोटा के निचले इलकों में पानी भर गया है। खतरे के निशान से चंबल नदी करीब 11 मीटर से अधिक होने पर धौलपुर जिला प्रशासन ने हाई अलर्ट जारी किया है।

नदी के निचले इलाकों में लगातार निगरानी रखी जा रही है। धौलपुर, सरमथुरा और राजाखेड़ा क्षेत्र के करीब दो दर्जन गांव जलभराव की चपेट में आ चुके हैं। बाढ़ की स्थिति को देखते हुए सीएम अशोक गहलोत ने तत्काल राहत कार्य शुरू करने के निर्देश दिए हैं। पर्यटन मंत्री ने सर्किट हाउस में आयोजित प्रेसवार्ता में बताया कि हालात बेहद जटिल हैं। आपातकालीन परिस्थिति से निपटने के लिए एसडीआरएफ और आरएसी की कंपनी धौलपुर पहुंच चुकी है। सेना को भी बुलाया जा रहा है।