कृषि आधारित खाद्य प्रसंस्करण यूनिट लगाने के लिये किसानों को ‍किया जायेगा प्रोत्साहित- उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी* *किसानों की आर्थिक उन्नति एवं तरक्की के लिये उनकी समस्याओं का किया जायेगा स्थाई समाधान- कृषि मंत्री श्री सचिन यादव*
August 25, 2019 • धर्मेंद्र शुक्ला

*कृषि आधारित खाद्य प्रसंस्करण यूनिट लगाने के लिये किसानों को ‍किया जायेगा प्रोत्साहित- उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी*
*किसानों की आर्थिक उन्नति एवं तरक्की के लिये उनकी समस्याओं का किया जायेगा स्थाई समाधान- कृषि मंत्री श्री सचिन यादव*
इंदौर 
 उच्च शिक्षा, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी तथा कृषि मंत्री श्री सचिन यादव  की विशेष उपस्थिति में आज राऊ में स्थित सहकारी शीतगृह संस्था के कार्यालय में कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर मंत्री द्वय श्री पटवारी तथा श्री यादव ने संस्था के पदाधिकारियों तथा जागरूक किसानों से चर्चा की। उनकी समस्याओं को सुना तथा  हर संभव निराकरण की बात कही। 
 इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि किसानों को प्याज, लहसुन, आलू आदि कृषि उपज का उचित मूल्य दिलवाया जायेगा। राज्य शासन का प्रयास है कि इन उपजो का किसानों को हर साल एक निश्चित दाम मिले। इन कृषि उपजों  का बाजार में दाम गिरने से किसानों को कोई असर न हो। इस दिशा में राज्य शासन द्वारा दाम गिरने की समस्या के निराकरण के लिए स्थाई हल करने की योजना पर कार्य किया जा रहा है। उन्होने कहा कि किसानों को कृषि आधारित खाद्य प्रसंस्करण यूनिट की स्थापना के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। उन्होने कहा कि इंदौर जिले के राऊ विधानसभा क्षेत्र में स्थित फूटा तालाब में नर्मदा का पानी लाने के लिये कार्ययोजना बनाई जा रही है। उन्होने कहा कि इंदौर विकास प्राधिकरण की प्रस्तावित 165 स्कीम को मुक्त कराया जायेगा। श्री पटवारी ने कहा कि किसानों के हित के लिये दलगत भावना से उठकर सकारात्मक कार्य किये जा रहें हैं। उन्होने सहकारी शीतगृह संस्था राऊ के कार्यों की सराहना की और कहा कि यह एक आदर्श संस्था है।
 कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री श्री सचिन यादव ने कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ क नेतृत्व में मंत्री मण्डल द्वारा  किसानों के हित में एतिहासिक निर्णय  लेकर उनका बेहतर क्रियांवयन किया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा लिया गया कर्ज माफी का निर्णय और क्रियांवयन  पूरे देश में ही नहीं विश्व में अनूठा है। घोषणा पत्र के वादों को पूरा करने की दिशा में राज्य सरकार तेजी से आगे बढ़ रही है। उन्होने कहा कि किसानों की आर्थिक उन्नति एवं तरक्की के लिये उनकी समस्याओं का स्थाई समाधान किया जायेगा। इस दिशा में विभिन्न योजनाओं पर काम चल रहा है। किसानों को अभी बिजली के बिलों में रियायत दी गई है। कर्ज माफी का निर्णय लेकर प्रभावी क्रियांवयन किया जा रहा है। किसानों को उपज का सही दाम दिलाने  के गंभीर प्रयास किये जा रहें है। किसानों के हित में और भी  कार्य किये जा रहें है। 
 मंत्री द्वय ने सहकारी शीतगृह का अवलोकन किया। उन्होने कार्यप्रणाली देखी तथा सराहना की। इस अवसर पर संस्था पर प्रबंधक श्री राधेश्याम पाटीदार ने बताया कि इस संस्था की स्थापना 1965 में हुई थी। इस संस्था को 4 राष्ट्रीय अवार्ड मिल चुके हैं। वर्तमान में यह संस्था 23 करोड़ रूपये के लाभ में है। कार्यक्रम में संस्था के अध्यक्ष श्री हजारीलाल बागवाला,  श्री रामनारायण कोटवाल, श्री सदाशिव यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधि और कृषकगण मौजूद थे।